ज्योतिष वास्तु और किसी भी प्रकार के रत्न के लिये फोन करे – 7309053333

सिंह राशिफल मार्च

astroadmin | March 9, 2018 | 0 | मासिक राशिफल

प्रभाव में वृद्धि होगी, वहीं स्वास्थ्य ठीक रहेगा। जीवनसाथी के स्वास्थ्य संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। व्यापार-व्यवसाय में संतोषजनक स्थिति रहेगी। इस समय जमीनी कार्य से लाभार्जन कर सकते हैं। भाग्य में अनुकूल स्थिति रहेगी।
इस माह शनिदेव आपके पंचम भाव में विराजमान रहेंगे। बिज़नेस में आपको अच्छा लाभ मिलने की सम्भावनाएं रहेंगी। वैवाहिक जीवन संघर्षमय हो सकता है। संतान की शिक्षा व स्वास्थ्य में दिक्कतें आ सकती है। राहु का प्रथम भाव में गोचर स्वास्थ्य की दृष्टि से एक उत्तम संकेत नहीं है। भौतिक चीजों के प्रति विरक्ति पैदा हो सकती है। संतान व पिता को शारीरिक कष्ट संभव है। अचानक कोई आर्थिक लाभ या हानि हो सकती है। गुरु की द्वितीय भाव में गोचरीय स्थिति पारिवारिक जीवन में खुशहाली व समृद्धि की ओर इशारा कर रही है। नौकरी में प्रमोशन व मन-सम्मान प्राप्त होने की उम्मीद रहेगी। बुध की सप्तम भाव में स्थिति के कारण बिज़नेस में आर्थिक लाभ संभव है। जीवनसाथी की कार्यक्षेत्र में उपलब्धि से आपको आर्थिक मदद मिलने के संकेत हैं। सूर्य व केतु की सप्तम भाव में स्थिति को दाम्पत्य जीवन के लिए किसी भी लिहाज से सही नहीं कहा जा सकता। जीवनसाथी का आध्यात्मिकता की ओर झुकाव बढ़ सकता है। वैवाहिक जीवन में मतभेद या तनाव रहने की सम्भावना है। शुक्र का अष्टम भाव से गोचर नौकरी में परिवर्तन को दर्शा रहा है। ट्रांसफर भी संभव है। मंगल की अष्टम स्थिति आपकी मानसिक चिंता बढ़ा सकती है। माता-पिता के स्वास्थ्य के लिए भी यह एक शुभ संकेत नहीं है।

आर्थिक लाभ की दृष्टि से यह समय अच्छा रहने की सम्भावना है। दशम भाव पर गुरु की दृष्टि पड़ने से नौकरी में प्रमोशन व मन-सम्मान प्राप्त होने के आसार नजर आ रहे हैं। अगर आपका जीवनसाथी आपके बिज़नेस या कार्यक्षेत्र से जुड़ा हुआ है तो उनके सहयोग से आपको अच्छा आर्थिक लाभ प्राप्त हो सकता है। आय के नए-नए स्रोत आपके हाथ लग सकते हैं। 11 मार्च के बाद कोई भी बड़ा निवेश करने से पहले आपको सोच-विचार करना होगा। बिज़नेस में आपको कोई बड़ी उपलब्धि मिलने की उम्मीद रहेगी। इस अवधि में पैसे का आना-जाना लगा रहेगा। कमाई के साथ-साथ ख़र्चों में भी बढ़ोतरी होने की सम्भावना रहेगी। शेयर बाजार या सट्टे-लॉटरी के द्वारा धन कमाने से आपको बचना चाहिए।

स्वास्थ्य के लिहाज से यह समय एक शुभ संकेत नहीं दे रहा। प्रथम भाव में बैठा राहु आपकी शारीरिक मुश्किलें बढ़ा सकता है। ह्रदय, पेट व बी. पी. से जुड़ी समस्याएं आपको परेशान कर सकती है। सांसारिक चीजों के प्रति आपके अंदर विरक्ति पैदा हो सकती है। काम में मन न लगना व चिड़चिड़ापन बढ़ने की सम्भावनाएं रहेंगी। हालाँकि आपका राशि स्वामी सूर्य इस समय आपके सप्तम भाव से गोचर कर रहा है जो कि अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करने की कोशिश करेगा। बेहतर होगा कि आप नियमित व्यायाम के लिए समय निकालें इससे आप काफी तरोताजा महसूस करेंगे। साथ ही योग, ध्यान व पूजा-पाठ में लिप्त रहना मानसिक शांति प्राप्त करने का श्रेष्ठ उपाय हो सकता है।

सप्तम भाव में सूर्य व केतु की युति होने के कारण वैवाहिक जीवन में परेशानियां आ सकती हैं। उनके स्वास्थ्य में ख़राबी व स्वभाव में क्रोध की अधिकता संभव है। इस दौरान आपको वैवाहिक जीवन के मामले में संयम व धैर्य से काम लेना होगा। जीवनसाथी का आध्यात्मिक रुझान इस माह कुछ बढ़ सकता है। आपके पार्टनर को अपने कार्यक्षेत्र में कोई बड़ी सफलता हाथ लगने की सम्भावना भी है। जिससे आपके जीवन में खुशियां आएँगी। प्रेम प्रसंगों के लिए भी यह समय चुनौतीपूर्ण रह सकता है। प्रेमी के साथ मनमुटाव व अलगाव हो सकता है। सम्बन्धों में मधुरता बनाए रखने के लिए आपका किसी भी प्रकार के विवाद से बचना ही बेहतर होगा। नए प्रेमी की तलाश में जो लोग इस समय कर रहे हैं उन्हें भी थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है।

पारिवारिक जीवन के लिए यह समय मिलाजुला हो सकता है। जहाँ एक और गुरु की द्वितीय भाव में स्थिति परिवार में खुशियों की वृद्धि करेगी, वहीं चतुर्थ भाव के स्वामी मंगल का अष्टम भाव से गोचर अपनी मानसिक शांति को घटा सकता है। पारिवारिक सदस्यों के स्वास्थ्य की वजह से आपका मानसिक तनाव बढ़ना संभव है। इस दौरान घर में कोई मंगल कार्य का आयोजन होने की सम्भावना रहेगी। माता-पिता दोनों को इस अवधि में अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखना चाहिए। भाई-बहनों की विदेश यात्रा संभव है। अगर उनका कार्यक्षेत्र लाइफ इंश्योरेंस, भूगर्भ, गूढ़ विद्याओं आदि से जुड़ा है तो उस अवधि में उन्हें अच्छी सफलता मिलने की सम्भावना रहेगी। इस माह शनि के पंचम भाव में गोचर करने के कारण संतान को शिक्षा व स्वास्थ्य के मामले में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इस अवधि में किसी घनिष्ठ मित्र का साथ आपको कुछ मानसिक राहत दे सकता है।

अनुशासित जीवनशैली अपनाने की कोशिश करें।सुर्य को जल दे और आदित्य ह्रिदय स्तोत्र का पाठ करे।

Related Posts

मेष राशि जून राशिफल २०१८

astroadmin | June 1, 2018 | 0

राशि चक्र का पहला ज्योतिषीय चिह्न है, जिसमें आकाशीय देशांतर के पहले 30 डिग्री फैले हैं। आश्विनी नक्षत्र (4 चरण) में जन्मे लोग, भरणी नक्षत्र (4 चरण), कृत्तिका नक्षत्र (प्रथम…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दैनिक पन्चांग

तत्काल लिखे गये

फेसबुक

सबसे ज्यादा देखे जाने वाले

दिन के अनुसार देखे

January 2019
S M T W T F S
« Dec    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  

स्तोत्रम

अब तक देखा गया

  • 50,190

नये पोस्ट को पाने के लिये अपना ईमेल लिख कर सब्सक्राइब करे


ज्योतिष वास्तु और किसी भी प्रकार के रत्न के लिये फोन करे – 7309053333
%d bloggers like this: